आरती, भजन एवम सम्पूर्ण पूजा विधि के माध्यम से भगवान से जुड़ने का सर्वोत्तम स्थान

pandit ramesh ji shri mahaveerji

Pandit Shri Ramesh Chand Sharma (Hastrekha specialist)

पंडित रमेश चंद शर्मा ( हस्तरेखा ज्ञाता )

इस साइट का निर्माण पंडित श्री रमेश चंद शर्मा के मार्गदर्शन से हुआ है जोकि हस्तरेखा के प्रसिद्ध ज्ञाता है । आप भी पंडितजी से संपर्क कर अपने भविष्य में आने वाली बाधाओं एवम सुअवसरों के बारे में जान सकते है । हम आशा करते है की पंडितजी का मार्गदर्शन आपके भविष्य को उज्जवल बनाने में आपका सहायक होगा । आप भी पंडितजी से नीचे बताये गए माध्यम से संपर्क कर सकते है , कृपया अपनी समस्या या प्रश्न का विवरण को विस्तार से लिखे ।
Mobile No - +91 9950440451
Email Id - astro.rameshchand@gmail.com
Address - Hotel Siddarth Resort, Sri Mahaveerji, Dist-Karauli (Rajasthan), India
ईश्वर की भक्ति में परम सुख की प्राप्ति होती है । हिन्दू धर्म में ईश्वर भक्ति को ही सभी दुखो का निवारण करने वाला और मन को शांति देने वाला माना गया है । भक्ति ईश्वर प्राप्ति एवम ईश्वर को प्रस्सन करने का सबसे उत्तम तरीका है | सभी लोगो को अपना कुछ समय ईश्वर की भक्ति एवम पूजा में व्यतीत करना चाहिए | भक्ति-भजन पर आप ईश्वर भक्ति के सभी साधनो को प्राप्त कर सकते है | यहाँ भगवान की पूजा विधि, आरती एवम भजन को आसानी से प्राप्त सकते है |

गणपति भगवान (Ganpati Ji), हनुमान जी (Hanuman Ji), लक्ष्मी जी (Laxmi Ji), शिव जी (Shiv Ji), दुर्गा माता (Durga mata), शनि देव (Shani Dev), साई बाबा (Sai Baba) एवम कृष्णा जी (Krishna Ji) की पूजा विधि, आरती, भजन नीचे दिए गए है | जिन्हें आप सुन एवम देख सकते है |
ganesh ji

Ganpati Bappa / गणपति बाप्पा

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

hanuman

Jai Hanuman / जय हनुमान

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

laxmi devi

Laxmi Devi / लक्ष्मी देवी

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

Shiv Dev

Shiv Ji / शिव जी

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

Shri Krishna

Shri Krishna / श्री कृष्णा

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

Shani Dev

Jai Shani Dev / शनि देव

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

Durga mata

Durga Mata / दुर्गा माता

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

Sai baba

Sai Baba / साई बाबा

Pooja Vidhi Aarti Bhajan

Pooja Vidhi / पूजा विधि

हिन्दू धर्म में पूजा विधि का बहुत महत्व है, सही तरीके से पूजा विधि का अनुसरण करने से भगवान हमेशा ही प्रसन्न होते है | पूजा के लिए किन वस्तुओ की आवश्यकता होती है एवम किस तरीके से भगवान की पूजा क्रम से की जाती है वो पूजा विधि में सिलसिलेवार तरीके से बताया गया है | जिसका पालन कर लोग अपने घरो पर विधि पूर्वक पूजा कर सकते है |

Aarti / आरती

जब भी किसी पूजा का आयोजन होता है तब अंत में आरती जरुर की जाती है | जिस भी देवता का पूजन है उसी देवता की आरती की जाती है| पूरी श्रद्धा से आरती करने पर ईश्वर प्रस्सन होते है और मनोकामना को पूरा करते है | यदि पूजन आम है तब जगदीश जी की आरती की जाती हैं क्योंकि इसमें सभी देवता आ जाते हैं अर्थात – जगत+ईश = जगदीश, जगत को चलाने वाले ईश्वर. पूजा की पूर्णता के लिए आरती करना जरूरी है | वैसे तो देवता अपने भक्त द्वारा की पूजा से प्रसन्न हो जाते हैं लेकिन आरती का अपना विशेष महत्व है जो उन्हें इस्मरण करने का एक तरीका है |

Bhajan / भजन

हिन्दू धर्म में भजन का बहुत महत्व है, भजन को भगवान को स्मरण करने का बहुत ही उत्तम साधन माना गया है एवम इस संधर्भ में शास्त्र में भी बहुत ही उत्तम लिखा गया है | भजन को किसी भी समय सच्ची श्रद्धा के साथ भगवान के समीप बैठ कर किया जा सकता है | ये मन को बहुत ही प्रस्सनता प्रदान करने वाला होता है | शास्त्रों में लिखा है कि
“भजनस्य लक्षणं रसनम्”
अर्थात- अंतरात्मा का रस जिसमें उभरे, उसका नाम है भजन यानी ह्रदय में जो आनंद वस्तु, व्यक्ति या भोग-सामग्री के बिना भी आता है, वहीं भजन का रस है।

रामचरितमानस में गोस्वामी तुलसीदासजी ने लिखा है कि “जो साधक भगवान का विश्वास पाने के लिए भजन करता है, प्रभु अपनी असीम कृपा से उसे अपना विश्वास प्रदान करके उसके जीवन को सफल बना देते हैं।”
footer

Quick Links for Aarti, Bhajan and Pooja Vidhi of God


All Rights Reserved - bhaktibhajan.com
About us | Contact us | Bhajan Pooja Aarti | God's Aarti | God's Pooja Vidhi | God's Bhajan
Disclaimer: All aartis, bhajans are related to respective companies, this site is purely use these for informative purpose. If someone finds violation of copyright for their contents, please write us through mail along with content details to astro.rameshchand@gmail.com